वर्ल्ड वाइड वेब क्या है – What is World Wide Web in Hindi

क्या आपको पता है कि वर्ल्ड वाइड वेब क्या है (What is World Wide Web in Hindi) और World Wide Web कैसे काम करता है, तो इस लेख के माध्यम से वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में आविष्कार, इतिहास, लाभ, नुकसान इत्यादि, के बारे में पूरी जानकारी देंगे इसलिए इस लेख अंत तक जरूर पढ़ें।

वर्ल्ड वाइड वेब का इतिहास – History of WWW

सन् 1989 में, CERN में काम करते हुए, ब्रिटिश वैज्ञानिक Team Berners-Lee ने वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) का आविष्कार किया। इसे दुनिया भर के विश्वविद्यालयों और संस्थानों में वैज्ञानिकों के बीच स्वचालित सूचना-साझाकरण की मांग को पूरा करने के लिए विकसित किया गया था। WWW का मूल विचार कंप्यूटर, डेटा नेटवर्क और हाइपरटेक्स्ट की विकसित तकनीकों को एक शक्तिशाली और उपयोग में आसान वैश्विक सूचना प्रणाली में मिलाना था।

आपको बता दें कि मार्च 1989 में टीम बर्नर्स-ली ने WWW के लिए पहला प्रस्ताव और मई 1990 में अपना दूसरा प्रस्ताव लिखा था। नवंबर 1990 में, सिस्टम को एक प्रबंधन प्रस्ताव के रूप में औपचारिक रूप दिया गया था जिसमें रॉबर्ट कैलीयू बेल्जियम सिस्टम इंजीनियर के रूप में थे। इस दस्तावेज़ में Hypertext Document का वेब ब्राउज़र देखा जा सकता है। 1992 में University of Illinois ने पहला वेब ब्राउज़र पेश किया, एक ऑनलाइन सर्च उपकरण जो वेब पर सभी सूचनाओं को “सर्फ” करता है, और फिर परिणामों को रैंक करता है।

वर्ल्ड वाइड वेब क्या है – What is World Wide Web in Hindi

यह Hypertext Mark-up Language या HTML का उपयोग करके Hypermedia को संदर्भित करता है। इसे WWW, W3 या वेब के नाम से भी जाना जाता है। यह इंटरनेट पर सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली सेवा है। इसके जरिए कई वेब सर्वर और क्लाइंट एक साथ जुड़ते हैं। हम सभी जानते हैं कि वेब सर्वर के HTML दस्तावेज़ इमेज, वीडियो और विभिन्न प्रकार की ऑनलाइन सामग्री को संग्रहीत करते हैं जिन्हें वेब की सहायता से एक्सेस किया जा सकता है।

WWW एक प्रकार का सूचना स्थान है जहाँ दस्तावेज़ और अन्य संसाधनों की पहचान URL (Uniform Resource Locator) जैसे https://www.example.com द्वारा की जाती है जिसे हाइपरटेक्स्ट द्वारा इंटरलिंक किया जा सकता है और इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। WWW संसाधनों को वेब ब्राउज़र के रूप में ज्ञात सॉफ़्टवेयर अनुप्रयोगों के माध्यम से उपयोगकर्ताओं द्वारा एक्सेस किया जाता है।

इसलिए, यह कहना गलत नहीं होगा कि दुनिया भर में आप अपने वेब ब्राउज़र पर जो भी वेबसाइट और वेब पेज देखते हैं, वे वेब से जुड़े होते हैं और उन्हें एक्सेस करने के लिए HTTP (Hypertext Transfer Protocol) का उपयोग किया जाता है। यह सभी वेब सर्वरों का एक प्रकार का संग्रह है। अधिक समझने के लिए, जब किसी ब्राउज़र का पता बार किसी वेबसाइट के URL से पहले लगा होता है, तो इसका मतलब है कि वेबसाइट एक वेब सर्वर पर संग्रहीत है जो वेब से जुड़ा है, इसीलिए इसका उपयोग www तक पहुँचने के लिए किया जाता है।

Hypertext क्या होता है?

हाइपरटेक्स्ट का अर्थ है कि यह एक ऐसा टेक्स्ट है जिसमें अन्य टेक्स्ट के लिए ‘लिंक‘ होते हैं और यह जरूरी नहीं कि रैखिक हो। इस शब्द का प्रयोग 1965 के आसपास Ted Nelson द्वारा किया गया था।

वर्ल्ड वाइड वेब कैसे काम करता है?

जब कोई यूजर Web Document को ओपन करता है तो वह इसके लिए एक प्रकार की Application का इस्तेमाल करता है जिसे कहते हैं। जब किसी वेब ब्राउज़र मैं डोमेन या URL का नाम लिखा जाता है तो ब्राउज़र http के डोमेन एड्रेस की खोज के लिए एक अनुरोध उत्पन्न करता है।

क्योंकि प्रत्येक डोमेन का अपना अलग पता होता है। ब्राउज़र तब डोमेन नाम को सर्वर IP Address में बदल देता है। जिसे www उस सर्वर में सर्च करता है। जब सर्वर का पता जिससे डोमेन होस्ट किया जाता है मेल खाता है, सर्वर उस पृष्ठ को वापस ब्राउज़र में भेजता है। जिसे आप अपने वेब ब्राउजर पर आसानी से देख सकते हैं।

वर्ल्ड वाइड वेब के लाभ

  • प्रकटीकरण की लागत कम कर देता है।
  • सूचना के आदान-प्रदान के साथ-साथ पेशेवर संपर्कों की स्थापना।
  • प्रारंभिक कनेक्शन की कम लागत।
  • दुनिया भर से आसानी से संपर्क स्थापित किया जा सकता है।
  • सूचना के विभिन्न स्रोतों तक पहुंच को सुगम बनाता है, जो लगातार अपडेट होते रहते हैं।
  • यह एक तरह का ग्लोबल मीडिया बन गया है।
  • तेजी से संवादात्मक संचार जिसका उपयोग विभिन्न सेवाओं के लिए किया जा सकता है।

वर्ल्ड वाइड वेब के नुकसान

  • ओवरलोड और अधिक जानकारी का जोखिम।
  • कुशल सूचना सर्च रणनीति की आवश्यकता है।
  • जानकारी को फ़िल्टर करना और प्राथमिकता देना मुश्किल हो सकता है।
  • सर्च धीमी हो सकती है।
  • नेट भी ओवरलोड है क्योंकि बड़ी संख्या में यूजर्स इसका इस्तेमाल करते हैं।
  • उपलब्ध डेटा आदि पर गुणवत्ता नियंत्रण मुश्किल हो सकता है।

वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

WWW का फुल फॉर्म क्या है?

WWW का Full Form ‘World Wide Web” होता है। इसे W3 भी कहा जाता है।

WWW क्या है?

WWW internet का एक बहुत बड़ा network है जहा पर करोड़ों अरबों की संख्या में hypertext documents online server में store किया जाता है

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को वर्ल्ड वाइड वेब क्या है (What is World Wide Web in Hindi) से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में भी पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें जो लोग वर्ल्ड वाइड वेब क्या है के बारे में जानना चाहतें हैं, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Leave a Comment